HTML tutorial

कड़कनाथ मुर्गे से ग्रामिण लोग अच्छी कमाई, 1 हजार मुर्गों से 10 लाख की होगी कमाई :Rural Business Ideas

कड़कनाथ मुर्गे से ग्रामिण लोग अच्छी कमाई,

ज्यादातर युवा अपने Business की चाह करते हैं फिलहाल भी देश में कुछ ऐसे ही हालात बने हुए हैं जहां नौकरी को लेकर लंबी लाइने लगी हैं और कई युवाओं को तो अपनी नौकरी से हाथ भी धोना पड़ रहा है ! ऐसे में अगर आप खुद का Business शुरू करने की सोच रहें है या आप गांव जैसे इलाके में रहते हैं और आपके पास Business के लिए काफी जमीन है तो आप कम बजट में अपने Business की शुरूआत कर सकते हैं

Rural Business Ideas of Kadaknath chicken : 

ये बात तो आप सभी जानते हैं कि चिकन (chicken) अपने बेहतरीन स्वाद के चलते हर नॉन-वेजिटेरियन (Non vegetarian) का फेवरेट फूड (Favorite food) माना जाता है आज हम आपको कड़कनाथ मुर्गे के बिजनेस ( के बारे में बताने जा रहे हैं ! जिसका स्वाद और गुण दोनों आम चिकन की तुलना में काफी ज्यादा होता है ! मुर्गे की इस प्रजाति को पाल कर आसानी से लाखों रूपए कमाए जा सकते हैं ! महज 1,000 हजार कड़कनाथ मुर्गे (Kadaknath chicken) का पालन का करके आप लाखों रूपये की कमाई कर सकते हैं

Kadaknath chicken की खासियत : प्रजाति मध्यप्रदेश के झाबुआ जिले में पाया जाता है

कड़कनाथ मुर्गे कि एक अनोखी प्रजाती है कड़कनाथ मुर्गे रंग पूरी तहर से काला होता है बताया जाता है कि इस मुर्गे के मांस के लेकर इसकी हड्डियां और ज्यादातर अंग भी काले ही होते है ! यहां तक कि इसके अंडे भी काले होते है कि सफेद रंग के मुर्गे के मांस के मुकाबले इसमें कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) की मात्रा बेहद कम होती है ! जबकि अमीनो एसिड (Amino acids ) का स्तर ज्यादा होता है देशी या बायलर मुर्गे (Native or boiler chickens) की तुलना में यह काफी टेस्टी होता है ! इस (Kadaknath chicken) के प्रजाति मध्यप्रदेश के झाबुआ जिले में पाया जाता है ! जहां इसे कालीमासी के नाम से जाना जाता है !

कड़कनाथ मुर्गे (Kadaknath chicken) का मांस, खून, चोंच, अंडे, जुबान और शरीर सबकुछ काला होता है इसमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन (Protein) पाया जाता है ! वहीं वसा बेहद कम होता है ! इसलिए यह हार्ट पेशेंट (Heart patient) और डायबिटीज मरीजों (Diabetes patients) के लिए काफी फायदेमंद होता है

कहां-कहां मिलता है :

वहीं अब कड़कनाथ मुर्गे (Kadaknath chicken) की यह ब्रीड छत्तीसगढ़, तमिलनाडू, आंध्रप्रदेश और महाराष्ट्र जैसे कई राज्यों में मिलने लगा है गांव और जिले के लोग अब काफी तादात में इस कड़कनाथ मुर्गे (Kadaknath chicken) को पालन लगे हैं इतना ही बताया जाता है कि इस मुर्गे की तासीर काफी गर्म किस्म की होती है !मध्यप्रदेश के आदिवासी अंचल झाबुआ जिले में ही पाया जाता है !

इसकी तीन प्रजातियां होती है ! जिनमें जेड ब्लैक, पेंसिल्ड और गोल्डन कड़कनाथ शामिल है ! जेड ब्लैक (Jade black) के पंख पूरी तरह काले होते है, पेंसिल्ड कड़कनाथ (Pencil kadaknath) का आकार पेंसिल की तरह होता है ! वहीं गोल्डन कड़कनाथ (Golden kadaknath) के पंखों पर गोल्ड के छींटे होते हैं

कैसे Kadaknath chicken का करें पालन :

कड़कनाथ चूजों और मुर्गियों ) के लिए ऐसा शेड बनाना चाहिए ! जिसमें रोशनी और हवा जा अच्छी मात्रा में आ सके वहीं ध्यान रहे कि दो शेड एक साथ नहीं होना चाहिए हीं एक शेड में एक ही ब्रीड के चूजें रखने चाहिए ! साथ ही इस बात का ध्यान रखना चाहिए ! कि कड़कनाक चूजों और मुर्गियों (Kadaknath Chicks and Chickens) को अंधेरे या देर रात में खाना नहीं देना चाहिए !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *